Sunday, September 5, 2010


मदर
टेरेसा ममता की मूरत थी,

गरीब लाचार लोगों के लिए वो भगवान के समान थी,
बीमार लोगों की सेवा निस्वार्थ रूप से करती थी,
सदा चेहरे पर मुस्कान लिए सबका दुःख मिटाती थी,
आज तेरह वर्ष पूरे हुए हमारे बीच नहीं रही,
मदर टेरेसा को शत शत शत नमन और श्रद्धांजलि मेरी !

38 comments:

डॉ टी एस दराल said...

सेवा की प्रतिमूर्ति को हमारा भी नमस्कार और श्रधांजलि ।

राकेश कौशिक said...

मदर टेरेसा को शत शत शत नमन और मेरी भी श्रधांजलि

ओशो रजनीश said...

सच्चे और अच्छे लोग हमेशा पूजे जाते है ....
यहाँ भी आइये : --
(आजकल तो मौत भी झूट बोलती है ...)
http://oshotheone.blogspot.कॉम

AlbelaKhatri.com said...

हमारी भी विनम्र श्रद्धांजलि !

सेवा और मानवता की प्रतिमूर्ति मदर टेरेसा ने भारत को अपनी कर्मभूमि बनाया ये हमारे लिए अत्यन्त गौरव का विषय है

उम्दा पोस्ट !

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (ਦਰ. ਰੂਪ ਚੰਦ੍ਰ ਸ਼ਾਸਤਰੀ “ਮਯੰਕ”) said...

मेरी ओर से भी मदर टेरेसा को
शत्-शत् नमन!

kavita said...

Beautiful tribute to a beautiful soul!

Sonal said...

very nice....
mother Teresa ko hamari or se bhi shardhanjli ....

A Silent Silence : Ek bejurm sazaa..(एक बेजुर्म सज़ा..)

Banned Area News : 11 hrs of meditation may boost brain function

Sumandebray said...

Great Tribute to someone who did so much for the people in need....

I was very sad to hear about that incident in Delhi where a mother gave birth to her baby in the foothpath and then died of septic infection.
The mother prevented many such with her mission

संजय बेंगाणी said...

हाथी के दाँत बहुत लम्बे, सुन्दर व कीमती होते है. :)

वन्दना said...

मदर टेरेसा को शत शत शत नमन और मेरी भी श्रधांजलि

Ashish (Ashu) said...

बेहद उम्दा.....

रश्मि प्रभा... said...

dil ko chhuti rachna

ab inconvenienti said...

पता है, कभी कभी हम रचे गए आभामंडल के पार देख नहीं पाते.

दिगम्बर नासवा said...

शत शत शत नमन ....

हमारीवाणी.कॉम said...

क्या आप हिंदी ब्लॉग संकलक हमारीवाणी के सदस्य हैं?

हमारीवाणी पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि

chitra said...

A nice tribute for the Mother on her 100th birthday

माधव said...

आप के ब्लॉग तक ना आता तो शायद मुझे इस बारे में पता ना चलता.

मदर टेरेसा को शत शत शत नमन और मेरी भी श्रधांजलि

Virendra Singh Chauhan said...

Sach hi likha hai aapne.....

kshama said...

Shat shat naman hain us mamata kee moorat ko...!

Mayank Bhardwaj said...

उम्दा पोस्ट

ताऊ रामपुरिया said...

शत शत नमन और विनम्र श्रद्दांजली.

रामराम

Sunil Kumar said...

शत्-शत् नमन!

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

बबली...कोलकाता का याद में मदर भी सामिल हैं...आज भी चिरनिद्रा में उनका दीप्त मुखमण्डल हमरे आँख के सामने ताजा है...नमन माँ!

महफूज़ अली said...

बहुत ही सुंदर रचना...

Udan Tashtari said...

मदर टेरेसा को शत शत नमन और श्रद्धांजलि.

Mumukshh Ki Rachanain said...

काश टरेसा जी के बरसी के तेरह साल बीत जाने के बाद हिंदुस्तान उनके कर्मों से कुछ सबक लेता तो आज के दौर में इलाज इतने महंगे न होते............
शायद हर श्रधांजलि की तरह हम इन्हें भी रस्मयादगी भरी ही श्रधांजलि अब तक देते आ रहे हैं...............

चन्द्र मोहन गुप्त

हास्यफुहार said...

बेहतरीन।

Susmita Biswas said...

tomar saathe aamio sardhanjali dilam

BK Chowla, said...

Awesome

Tripat "Prerna" said...

shradhanjli :)

http://liberalflorence.blogspot.com/

singhsdm said...

माँ टेरेसा को हमारी भी भावभीनी श्रद्धांजलि....!

sada said...

मेरी तरफ से भी मदर टेरेसा को शत् शत् नमन, आभार ।

रचना दीक्षित said...

सेवा की प्रतिमूर्ति को हमारा भी नमस्कार और श्रद्धांजलि

kumar zahid said...

सलाम उस जगतमाता को हमारा भी !

निर्मला कपिला said...

सेवा की प्रतिमूर्ति को हमारा भी नमस्कार और श्रधांजलि ।

sheetal said...

mother teressa ji ko shat shat naman

Anand Rathore said...

मदर टेरेसा को शत शत शत नमन.. good quality of yours is that you remember everything.. ganesh chaturthi, asha ji , mother Teresa etc.. aapka blog padh ke general knowledge bhi badhti hai...aur kavitayen bhi padhne ko mil jaati hain... cheers...

Bengali mom in Mumbai said...

Great verses, Urmi....written by you ?