Saturday, July 30, 2011


आँखों से तेरे अश्क उतार लेंगे,
तुझे ख़ुशी देकर गम उधार लेंगे,
तेरे जाने के बाद आयेगी तेरी याद,
तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे !

43 comments:

Bhushan said...

तेरे जाने के बाद आयेगी तेरी याद,
तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे !

कोमल और सुंदर भावों से भीगी शायरी. वाह!!

Dr (Miss) Sharad Singh said...

बहुत खूब...लाजवाब...

SAJAN.AAWARA said...

bahut khub mam.....
jai hind jai bharat

anu said...

ek bar phir se..............waha...bahut khub

Manish Kr. Khedawat said...

bahut khoob :)

अनुपमा त्रिपाठी... said...

जीवन की सच्चाई ही यही है...!!
बहुत सुंदर भाव....

शिवम् मिश्रा said...

वाह बहुत खूब ... बढ़िया भाव है !!

वन्दना said...

वाह बहुत ही सुन्दर लिखा है।

Rajesh Kumari said...

bahut khoobsurat.

chirag said...

lovely one

डॉ टी एस दराल said...

वाह वाह , बहुत खूब लिखा है ।

सहज साहित्य said...

आँखों से तेरे अश्क उतार लेंगे,
तुझे ख़ुशी देकर गम उधार लेंगे,
-प्रिय को खुशी देकर गम ले लेना ही प्रेम में सच्चा समर्पण है । उर्मि जी आपने बड़ी सादगी से , सरल भाशा में बहुत गहरी बात कह दी है। और
याद आने पर प्रिय के ख़्यालों में ही वक़्त गुज़ारना कितन असुखद होता है !सचमुच बहुत ही सुखद ।
तेरे जाने के बाद आयेगी तेरी याद,
तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे !

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

वाह!

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

वाह क्या बात कही है ..बहुत खूब

kshama said...

Kya baat hai,Babli!

मनोज कुमार said...

अहा! क्या बात है!!
पूर्ण समर्पण!!

Harman said...

Wah..lajawab...:)

mahendra verma said...

तेरे जाने के बाद आयेगी तेरी याद,
तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे

सुंदर भाव, सुंदर पंक्तियां।

अजय कुमार said...

खूबसूरत ---

रचना दीक्षित said...

तेरे जाने के बाद आयेगी तेरी याद,
तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे !

उम्दा शायरी. लाजवाब. बधाई.

Dr Varsha Singh said...

तेरे जाने के बाद आयेगी तेरी याद,
तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे !


बहुत लाजवाब शेर ...

vidhya said...

very very nice

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

बहुत खूब!!

Sunil Kumar said...

बहुत खूब,लाजवाब...

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

aafareen!

BK Chowla, said...

Each line is so expressive

Akanksha~आकांक्षा said...

बहुत खूबसूरत अभिव्यक्ति...बधाई.

__________________
'शब्द-शिखर' : स्लट-वाक और बे-शर्म लोग

संजय भास्कर said...

वाह....बहुत खूब

veerubhai said...

अगर मुझसे मोहब्बत है ,मुझे सब अपने गम दे दो ,
इन आँखों का हरेक आंसू मुझे मेरे सनम दे दो ........तुझे खो दिया हमने पाने के बाद ,तेरी याद आई ,तेरे जाने के बाद तेरी याद आई ,....और ये भी "तुम मेरे पास होते हो गोया जब कोई दूसरा नहीं होता" आपकी शायरी पढ़ते पढ़ते मन कितना सोच गया ...."तेरे जाने के बाद आयेगी तेरी याद ,तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे ."बहुत सरल ,सीधा बिंदास .

daanish said...

तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे ...

गहरी भावनाओं का भाव पूर्ण शब्दों में
सटीक वर्णन ... वाह
सहज साहित्य जी की टिप्पणी और वीरू जी के
खयालात का अनुमोदन करता हूँ

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

बबली जी क्या बात कही देवी की कृपा से आनंद आ गया ..

तेरे जाने के बाद आयेगी तेरी याद,
तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे !

सुन्दर प्यारे बोल कोमल भाव


शुक्ल भ्रमर ५
रस -रंग भ्रमर का
भ्रमर की माधुरी

Dr.Ashutosh Mishra "Ashu" said...

तेरे ख्यालों में ही वक्त गुज़ार लेंगे ....main phir kahunga ki ..aapki char laino ka koi jabab nahi...char panktiyon mein kar deti hain har baat ka ijhar..padhte to hain do aankho se par ho jati aankehei char..behtarin

Maheshwari kaneri said...

कोमल और सुंदर भावों से भीगी शायरी. .सुन्दर

अभिषेक मिश्र said...

सुन्दर पंक्तियाँ.

kavita said...

Well expressed .

Sawai Singh Rajpurohit said...

वाह बहुत खूब
बेहद उम्दा पोस्ट के लिए आपको बहुत बहुत बधाइयाँ

sheetal said...

sundar ahivyakti.

सदा said...

बेहतरीन ।

Mary ♥ Mur said...



I love this post and your blog so much.)) You have a talant *-)

I need your help...
A few days ago I got my Ipad. Do you have Ipad? What programs do advise to download?

sm said...

तुझे ख़ुशी देकर गम उधार लेंगे
beautiful

Rakesh Kumar said...

आप शब्दों में कैसा जादू भर देतीं हैं बबली जी,
कि हर शब्द 'मुखर' हो उठता है.
अनोखे भाव प्रस्तुत किये हैं आपने.
आपकी कलाकार्री को सादर नमन.

Rakesh Kumar said...

इस पोस्ट पर देरी से आने के लिए आपसे क्षमाप्रार्थी हूँ.

S.M.HABIB said...

वाह! क्या बात है...
सादर..