Tuesday, May 12, 2009


आपके आने से ज़िन्दगी कितनी ख़ूबसूरत है,
दिल में बसाई है जो वो आपकी ही सूरत है,
दूर जाना नहीं हमसें कभी भूलकर भी,
हमें हर कदम पर आपकी ज़रूरत है !

29 comments:

manu said...

सुंदर लिखा है,,,
और इंक -पेन से रेखाचित्र तो कमाल का बन पडा है,,

Kishore choudhary said...

खूबसूरत शेर

ARUNA said...

jitni bhi taareef karoon tumhaari, kum padegi!!!!

योगेन्द्र मौदगिल said...

Wahwa...वाहवा

अक्षत विचार said...

आपके आने से ज़िन्दगी कितनी ख़ूबसूरत है,
wah, wah..

Syed Akbar said...

खूबसूरत

sujata said...

bahut khoob!!

satish kundan said...

एक प्रेमिका का समर्पण....
बहुत खुबसूरत रचना.

नीरज कुमार said...

हर कदम पर आपकी ज़रूरत है

जरुरत एक ऐसा भाव है जो हमें मजबूर एवं बेबस बनता है लेकिन जीवन का सत्य भी है...
अच्छी रचना है...

BrijmohanShrivastava said...

uttam

SWAPN said...

chaar linon men kah di dil ki baat
jismen aa gai hai saari kaayanaat

wah.wah wah.

aleem azmi said...

amazing....ghazal ...u have mentioned....keep ti up..

Science Bloggers Association said...

बहुत खूब लिखा है आपने।
-Zakir Ali ‘Rajnish’
{ Secretary-TSALIIM & SBAI }

अमिताभ श्रीवास्तव said...

wah, achhi panktiya he///
jaroorat yaani apeksha aour hamare shastro me apeksha ko bahut badaa dukh kaa kaaran bataya gaya he///
jindgi me aanaa jaanaa chalta rahta he, koun ruka he ynhaa....kher..bahut sundar tarike se likhi he aapne///meri shubhkamnaye///
ab doosri baat, rekha chitra aap banaati he kya???? jo bhi ho man ko bhaa rahaa he, manuji ne bhi tarif ki he///darasal jise chitra ukerni ki aadat ho use chitro me maza aataa hi he///

jamos jhalla said...

khoobsoorti saamne ho to yeh saaraa jahaan khoobsoorat hai|
dil ,dilrubaa,dil kaa har
fasaanaa khoobsoorat hai||
aisi khoobsoorti saamne ho to
aur kisi ki jaroorat kayaa hai||

''अम्बरीष मिश्रा '' said...

kitnee hi romantic baat kahengee utne hi comment aap ke paas honge

kya kare sab kitne romantic log hai yahan

par ............. leave it

I pray to you maim or miss my hart to always kiss to your thought
but time is lack for blog

so come to bol bhai bol me aap copy past kar de kuch to achcha hoga aap ka camment padha achchca laga
dil ko chuaa
aur ye mat puchoo phir kya hua


lovely girl this is

गर्दूं-गाफिल said...

बहुत खुबसूरत

'उदय' said...

... बहुत खूब, बेहद खूबसूरत अभिव्यक्ति ।

kumar Dheeraj said...

समझ में नही आता कि आपके इस सजे सजाये नगमें को मै क्या नाम दू । हर शैर में वो बेपनाह प्यार और मुहब्बत का जाम झलकता है जिसको शब्दों में बयां करना मुश्किल है । शानदार पेशकश शक्रिया

Dr. shyam gupta said...

दिल में बसाई आप की ही मूरत है,,,,वाह क्याबात है!!!!!!!!!!!!!!

तू मेरा इश्क है,खुदा है
तू कहां,कब मुझसे जुदा है।

RAJNISH PARIHAR said...

बहुत ही अच्छी भावनाएं है आपकी..इन्हें लिखती रहियेगा.. ..वरना......हम कैसे जानेंगे..

शोभना चौरे said...

दूर जाना नहीं हमसें कभी भूलकर भी,
हमें हर कदम पर आपकी ज़रूरत है !
harek insan ko shsafar ki jrurat hoti hai.apne imandari se kh diya
badhai.bhut ache

दिगम्बर नासवा said...

दूर जाना नहीं हमसें कभी भूलकर भी,
हमें हर कदम पर आपकी ज़रूरत है !

सचमुच.............प्यार की जरूरत हर कदम पर होती है और हर इंसान को होती है...........आपके खूबसूरत शेर औए उतना हि खूबसूरत और लाजवाब चित्र .........आपके शेरों को साकार करता हुवा............बहुत खूब

JHAROKHA said...

बब्ली जी ,
आपकी शायरी ,रचनाएँ तो अच्छी हैं ही ..साथ ही उनके प्रस्तुतीकरण का ढंग भी बहुत अच्छा लगा ...
पूनम

विनय said...

रचना और चित्र का दोनों ही बेहद ख़ूबसूरत सीरत पेश करते हैं

रवीन्द्र दास said...

man ko bhaya bahut.

Harsh said...

bahut sundar...

Saiyed Faiz Hasnain said...

उनके जाने से जीवन में अँधेरा छाया था .......आपने बिलकुल सही लिखा है । अच्छी शायरी पढाने का शुक्रिया ....

नीरज कुमार said...

सवाल अच्छा है...