Sunday, August 2, 2009


दोस्ती तो सिर्फ़ एक इत्तेफाक़ है,
ये तो दिलों की मुलाकात है,
दोस्ती नहीं देखती के ये दिन है या रात है,
ऐसे में तो सिर्फ़ वफ़ादारी और जज़्बात है !

49 comments:

वाणी गीत said...

दोस्ती में सिर्फ वफादारी और जज़्बात ..
बढ़िया है ...!!

श्यामल सुमन said...

कम शब्दों में कह गयीं बड़े मजे की बात।
लोग सभी कहते यही दोस्ती है जज्बात।।

सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com
shyamalsuman@gmail.com

Udan Tashtari said...

बेहतरीन!!

Nirmla Kapila said...

वाह बबली जी दोस्ती का सुन्दर चेहरा चं द शब्दों मे ही दिखा दिया बहुत बहुत बधाई

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

दोस्ती तो सिर्फ़ वफ़ादारी है।
बढ़िया शेर है, अच्छे जज्बात है।
बधाई।

Rane (The Orchid with All Shades Pink) said...

bahut saccha vichaar hai...

विनोद कुमार पांडेय said...

chand layino main dosti ka bahut sundar varnana..

sach kaha babli ji dosti bas dosti hoti hai..

dhanywaad...badhiya bhav piroya aapne..

Pankaj Mishra said...

बहूत सुंदर रचना ! दोस्ती का सच्चा स्वरुप !
धन्यवाद

ओम आर्य said...

bahut hi sahi baate hai .....dosti me .....khubsoorat

VisH said...

wahhh dear dost khoob kahi....aapko meri or se dosti ke diwas par shubhkamnaye....

JAi Ho mangalmay ho...

kavita said...

Babli..these are the most perfect lines for friendship day...great work once again...i am writing it down in my notebook..

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

kya baat hai....
bahut acha likha hai babli ji...

चंदन कुमार झा said...

दोस्ती पर बहुत सुन्दर रचना.......वास्तव में दोस्ती होती ही इतनी खूबसूरत है.

amarjeet kaunke said...

आप की नयी रचना दोस्ती के पावन अहसास को
परगट करती है....वधाई

दिगम्बर नासवा said...

दोस्ती तो बस दोस्ती है............ निभाने के लिए ही होती है........ khoobsoorat khyaal है आपका........

RAJIV MAHESHWARI said...

खूबसूरत भावाभिव्यक्ति।

महामंत्री - तस्लीम said...

Bahut sundar.
-Zakir Ali ‘Rajnish’
{ Secretary-TSALIIM & SBAI }</a

Hobo ........ ........ ........ said...

jo baat dil se nikalti hai dil tak jaati hai...

डाकिया बाबू said...

Dosti par bahut sundar bhav..badhai.

abdul hai said...

good

jamos jhalla said...

Doston ka saath din ho yaahoraat|
kasme vaade pyaar mohabbat
yaa ho koi dilbar ki maang
poori karte sacche dil kesaath
jhalli -kalam-se
angrezi-vichar.blogspot.com
jhallevichar.blogspot.com

Mithilesh dubey said...

बहुत ही सुन्दर रचना।

sujata said...

Perfect lines for a perfect day!! Happy Friendship day to you!!

अमिताभ श्रीवास्तव said...

vafadari.....//////
dosti par umda andaaz.

Dr. shyam gupta said...

ए मेरे प्रिय दोस्त तुझको दुश्मनी का हक नहीं ।
तू जोन दुश्मन,दुश्मनी से फ़िर मुझे नफ़रत नहीं।

रवि धवन said...

एकदम परफेक्ट. सीधा हृदय को स्पर्श किया है.

shilpa said...

you have beautiful potraits and your petry just superb happy friendship day

M VERMA said...

दोस्ती नहीं देखती के ये दिन है या रात है
बहुत खूब ---
मेरे लिये तो
दोस्ती तो एक नायाब सौगात है
==
बोलते से चित्र --

R.Ramakrishnan said...

Babliji
Apne bahut hi sach owr sundar baat farmaya hai.Friends are a very impoprtant part of our life.Happy Friendship Day.
Ram

ARUNA said...

dosti to ek atoot bandhan hai!!

MUFLIS said...

ये दोस्ती का ब्यान bhi,
kisi मन से मन की hi बात है
तस्वीर भी, अल्फाज़ भी,
कैसी हसीं ye सौगात है

अच्छी तस्वीर.....
उतनी ही अच्छी रचना .....
बधाई
---मुफलिस---

Prem Farrukhabadi said...

दोस्ती तो सिर्फ़ एक इत्तेफाक़ है,
ये तो दिलों की मुलाकात है,

bahut achchhi lagi badhai!

yuva said...

Badhiya prastuti

नीरज कुमार said...

दोस्ती तो सिर्फ़ एक इत्तेफाक़ है,
ये तो दिलों की मुलाकात है,
दोस्ती नहीं देखती के ये दिन है या रात है,
ऐसे में तो सिर्फ़ वफ़ादारी और जज़्बात है !


बहुत ही बढ़िया पंक्तियाँ...दोस्ती की सही समझ...

HAPPY FRIENDSHIP DAY...BELATED HI SAHI...HAI NAA...

Rakesh Singh - राकेश सिंह said...

सुन्दर रचना |

Dr.Aditya Kumar said...

Friendship is just like our two eyes.They blink ,move,cry,see .and sleep together,even though they never see each other

creativekona said...

Bablee ji ..dostee ko bahut kam aur khoobsurat shabdon men likha hai apne.Badhai.
HemantKumar

Mahesh Sindbandge said...

Hi,

i was wondering which blog to look into , at first. I find all different from each other. This blog seems to have all poetry of yours...

This lines are good.

one correction..
in the last line i think "isme to" shuould replace "aise mein to"..

I feel that would suit more and makes more sense... though its my thought..

Please dont take it as an offence at my visit like this.

Keep writing :)

Cheers

Raj said...

Bahut hi Umda......Dost

BrijmohanShrivastava said...

दोस्ती पर अच्छी व सुंदर रचना

Dhiraj Shah said...

belated happy friendship day...

hem pandey said...

बाकी पंक्तियों से तो सहमति है, लेकिन इस पंक्ति से नहीं-
'दोस्ती तो सिर्फ़ एक इत्तेफाक़ है,'

समयचक्र : महेन्द्र मिश्र said...

अच्छे जज्बात है...बेहतरीन.

aleem azmi said...

dosti me vafadaari.....kya baat hai ji ...bahut sunder dhang se aapne pesh kiya ..kya kahne

jamos jhalla said...

Babli I saw AMAZING today and felt sorry why icould not visit this beautiful,wonderfulworld.badhaai.

Murari Pareek said...

bemishaal rachnaa jab bhi mujhe achhe sms sher ki jarurt hoti hai apke blog se letaa hun kai ladkiyon pe impress jamaa chuka !! ha....ha...

"लोकेन्द्र" said...

वाह-वाह बखूबी चित्रण किया है आपने दोस्ती का.....

Anonymous said...

very useful article. I would love to follow you on twitter. By the way, did you hear that some chinese hacker had busted twitter yesterday again.

Raj said...

आदरणीय बबली जी;
आपका "दोस्ती का पैगाम" मुझे बहुत अच्छा लगा, मेरे मन ने कहा कुछ कहूं !

*****मेरी दोस्त की यादें*****

किस से कहें और कौन सुने, जो हाल तुम्हारे बाद हुआ,
इस झील सी नीली आँखों में, एक खवाब बहुत बर्बाद हुआ,

ये हिजर हवा भी दुश्मन है, उस नाम के सारे रंगों की,
वोह नाम जो मेरे होंटों पे, खुशबू की तरह आबाद हुआ,

इस शहर में कितने चेहरे थे, कुछ याद नहीं सब भूल गए,
एक शक्स किताबों जैसा था, वोह शख्स ज़ुबानी याद हुआ..!

"दिलों को जीतने का शौक"
http://priyraj.blogspot.com