Saturday, May 29, 2010


हो गए थे दूर आपसे हम पल भर के लिए,
मगर थे दिल के करीब हम हर पल के लिए,
भूल कैसे पायेंगे आपको एक पल के लिए,
आपके याद की बेखुदी है जब हर पल के लिए !

41 comments:

उम्मेद गोठवाल said...

बेहतरीन,,,,,,सुन्दर व आकर्षक प्रस्तुति।

Arvind Mishra said...

सुन्दर भाव , शब्दों के हेर फेर से रचना कुछ यूं होगी -
हो गए थे दूर आपसे हम पल भर के लिए,
मगर थे दिल के करीब हम हर पल के लिए,
भूल कैसे पायेगेंआपको एक पल के भी लिए,
आपके याद की बेखुदी है जब तलक हर पल के लिए

Arvind Mishra said...

आपके याद की बेखुदी है जब हर पल के लिए

वन्दना said...

waah .........bahut hi sundar bhav hain.

महफूज़ अली said...

बहुत सुंदर....

Dimps said...

Hello Babli ji...

Dard bharaa!!
Very touchy..

Regards,
Dimple

राज भाटिय़ा said...

अरे वाह जी बहुत सुंदर जबाब नही बबली जी, धन्यवाद

M VERMA said...

बढिया शायरी

संजय भास्कर said...

beautiful wright babli ji......

संजय भास्कर said...

Very touchy..

Vinay Prajapati 'Nazar' said...

वाह क्या बात कही है आपने!

kshama said...

Phir ek baar yah char panktiyon kaa kamal hai!

'उदय' said...

...बेहतरीन ..... प्रसंशनीय !!!

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

दूर आपसे गए, अकेले हुए, थे बस एक पल के लिए
फिर भी आपके दिल में थे रहते हम, हर एक पल के लिए
भूल नहीं पाएंगे आपको बिछड़ के हम एक पल के लिए
खो बैठे हैं अब तो देखो खुद को हम हर पल के लिए.

tulsibhai said...

" behatarin "

----- eksacchai {AAWAZ }

http://eksacchai.blogspot.com

दिलीप said...

waah aapki shaayri me kho jaane ka dil karta hai har pal ke liye...

Deepak Shukla said...

Hi..

Pal do pal ka saath nahi hai..
Tera janam janam ka sath..
Har pal tere sang jo rahta..
Tere dil main jiski yaad..

Ek pal se har pal tak ki kavitamay prastuti..

DEEPAK..

शिवम् मिश्रा said...

बहुत बढ़िया लिखा आपने बधाइयाँ !!

रश्मि प्रभा... said...

पलों की दास्ताँ कहती है ... तुम हमारे हो

Shekhar Kumawat said...

अरे वाह जी बहुत सुंदर जबाब नही बबली जी, धन्यवाद

योगेन्द्र मौदगिल said...

wah...anand aa gaya..

sangeeta swarup said...

खूबसूरत एहसास खूबसूरत शब्दों में बयां किये हैं

राजकुमार सोनी said...

कोमल भावनाओं की सुंदर रचना।

sheetal said...

jab koi dil ki dhadkan ho,uski yaad main dil har pal dhadakta hain.
chahe din ho chahe raat uski yaad main yeh dil tarastaa hain.

Aap kamaal ki shaayari karti hain.

दिगम्बर नासवा said...

पल .. पल.. पल... पल ....
आप ही आप हैं हर पल ... बहुत ही लाजवाब लिखा है आपने हर पल ...

hem pandey said...

हमेशा की तरह प्रेम में पगी एक और कविता.

रवि धवन said...

आहा! प्रेम से सराबोर कविता।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

बहुत ही खूबसूरत मुक्तक है!
बधाई!

nivedita said...

Hello Urmiji,
how are you? I was not able to check the mail or blog for a month.
and
this shayri is just for me!

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' said...

हो गए थे दूर आपसे हम पल भर के लिए,
मगर थे दिल के करीब हम हर पल के लिए,
भूल कैसे पायेंगे आपको एक पल के लिए,
आपके याद की बेखुदी है जब हर पल के लिए !
चारों मिसरे बहुत खूबसूरत हैं.

रचना दीक्षित said...

सुन्दर ...... बेहतरीन अभिव्यक्ति

arvind said...

हो गए थे दूर आपसे हम पल भर के लिए,
मगर थे दिल के करीब हम हर पल के लिए,
भूल कैसे पायेंगे आपको एक पल के लिए,
आपके याद की बेखुदी है जब हर पल के लिए !

........सुन्दर व आकर्षक प्रस्तुति।

RAJNISH PARIHAR said...

प्यार में तो एक पल की दूरी भी असहनीय होती है,पर दिल हमेशा दिल के करीब ही होता है....हर पल!!!

Dimps said...

आपके याद की बेखुदी है जब हर पल के लिए !

Waah waah!
Khoobsurat!

Regards,
Dimple

sanjukranti said...

magar the dil k karib hr pl k lie..
kafi hardik.

BK Chowla, said...

Really heart touching post

सुमित प्रताप सिंह said...

बढ़िया प्रस्तुति.बधाई...

R Sudhir Kumar said...

Jis ko Hindi paadna nahin aatha hai, kya apa in pantion ko english script mein bhi liksakthe hai.

Sukriya

arvind said...

बेहतरीन,,,,,,सुन्दर व आकर्षक प्रस्तुति।

अक्षिता (पाखी) said...

बहुत सुन्दर..रचना भी और चित्र भी.


____________
'पाखी की दुनिया' में रोटी का कमाल

pankaj mishra said...

akelepan se mohabbat. wah. very very appeling.