Wednesday, July 6, 2011


हिज़्र में कभी, विसाल में रहता है वो,
हर लम्हा मेरे ख्याल में रहता है वो,
कैसा है वो, किस हाल में है वो,
दिल के हर सवाल में रहता है वो !

51 comments:

दिगम्बर नासवा said...

हर जगह तू ही तू ... तू ही तू रहता है ... खूबसूरत शेर है ..

वन्दना said...

बहुत ही सुन्दर तसव्वुर है।

mahendra srivastava said...

क्या कहने, बहुत सुंदर

सहज साहित्य said...

चार पंक्तियों में चित्र के साथ आपने पूरा सौन्दर्य उडेल दिया है उर्मि जी । बहुत साधुवाद!

Manish Kr. Khedawat said...

nice one urmi zi :)
_____________________________________
किसी और की हो नहीं पाएगी वो ||

सदा said...

वाह ... बहुत खूब ।

sajjan singh said...

सुन्दर रचना। आभार।

: केवल राम : said...

कैसा है वो, किस हाल में है वो,
दिल के हर सवाल में रहता है वो !


हमारा हर सवाल उसके प्रति हमारे प्यार को दर्शाता है ....आपका आभार

Dr (Miss) Sharad Singh said...

बहुत ही खूबसूरत रचना...

डॉ टी एस दराल said...

बहुत सुन्दर ज़ज्बात पिरोये हैं ।

Bhushan said...

कैसा है वो, किस हाल में है वो,
दिल के हर सवाल में रहता है वो !
हर सवाल वहीं जुड़ता है. सुंदर अहसास.

BrijmohanShrivastava said...

शानदार

रश्मि प्रभा... said...

badhiyaa

वीना said...

हर सवाल में रहता है वो
बहुत बढ़िया....

kshama said...

Behad sundar Babli! Wah!

Vivek Jain said...

सुंदर शेर बहुत खूब
विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

kavita said...

Wonderful expression.

Dr Varsha Singh said...

हिज़्र में कभी, विसाल में रहता है वो,
हर लम्हा मेरे ख्याल में रहता है वो,
कैसा है वो, किस हाल में है वो,
दिल के हर सवाल में रहता है वो !

वाह क्या बात है ! बहुत सुन्दर !.....

Rajesh Kumari said...

behad umda sher humesha ki tarah.

mridula pradhan said...

char lineon men hi kitna sunder likh letin hain.....

chirag said...

bahut khoob kaha ji aapane

Harman said...

Wahy kya baat hai!
lovely!

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

प्रेम की पराकाष्ठा ऐसी ही होती है.लाजवाब.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

आपकी इस उत्कृष्ट प्रवि्ष्टी की चर्चा आज शुक्रवार के चर्चा मंच पर भी की गई है!
यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल उद्देश्य से दी जा रही है!

रविकर said...

बहुत सुन्दर ||

शिवम् मिश्रा said...

बहुत खूब ...

घनश्याम मौर्य said...

बढि़या उदगार। इस पर एक शेर याद आ रहा है- जिधर देखता हूँ उधर तू ही तू है। न तेरी सी खुशबू न तेरी सी बू है।

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

sawal ka jawaab jaldee hee mil jaayega!

BK Chowla, said...

Awesome

Kunwar Kusumesh said...

very nice.

सुधीर said...

वाह! बहुत सुन्दर !

Rakesh Kumar said...

आपके दिल में ऐसे भाव कैसे उमड़ते हैं उर्मीजी.
क्या यह प्यार के अहसास की ही ताकत है?
जिसका अहसास आप खूबसूरती से करा देतीं हैं.

अनामिका की सदायें ...... said...

ye sawaal chain nahi lene dete zindgi bhar. sunder abhivyakti.

KK Yadav said...

वाकई खूबसूरत भाव..बधाई.

Akshita (Pakhi) said...

अरे वाह, बहुत सुन्दर लिखा आपने..बधाई.

vidhya said...

so nice

सुमन'मीत' said...

bas sab jagah rhta hai vo....

अजय कुमार said...

क्या बात है , बहुत खूब ,
ये मेरी तरफ से-
मेरे साथ दोस्ती करके
मालामाल रहता है वो

Rachana said...

bahut sunder likha hai aapne prem ki sunder abhivyakti
rachana

mahendra verma said...

कैसा है वो, किस हाल में है वो,
दिल के हर सवाल में रहता है वो।

उत्तम शायरी।
शुभकामनाएं।

Unseen Rajasthan said...

Beautiful Words !!! Nice to see you ! I am on blogger after a long time and happy to see your blog again !!Unseen Rajasthan

smshindi By Sonu said...

प्रिय ब्लोग्गर मित्रो
प्रणाम,
अब आपके लिये एक मोका है आप भेजिए अपनी कोई भी रचना जो जन्मदिन या दोस्ती पर लिखी गई हो! रचना आपकी स्वरचित होना अनिवार्य है! आपकी रचना मुझे 20 जुलाई तक मिल जानी चाहिए! इसके बाद आयी हुई रचना स्वीकार नहीं की जायेगी! आप अपनी रचना हमें "यूनिकोड" फांट में ही भेंजें! आप एक से अधिक रचना भी भेजें सकते हो! रचना के साथ आप चाहें तो अपनी फोटो, वेब लिंक(ब्लॉग लिंक), ई-मेल व नाम भी अपनी पोस्ट में लिख सकते है! प्रथम स्थान पर आने वाले रचनाकर को एक प्रमाण पत्र दिया जायेगा! रचना का चयन "स्मस हिन्दी ब्लॉग" द्वारा किया जायेगा! जो सभी को मान्य होगा!

मेरे इस पते पर अपनी रचना भेजें sonuagra0009@gmail.com या आप मेरे ब्लॉग sms hindi मे टिप्पणि के रूप में भी अपनी रचना भेज सकते हो.

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई?

नीचे दिए लिंक पर कृपया अपनी प्रतिक्रिया दे कर अपने सुझावों से अवगत कराएँ ...शुक्रिया

मेरी नई पोस्ट पर आपका स्वागत है! मेरा ब्लॉग का लिंक्स दे रहा हूं!

हेल्लो दोस्तों आगामी..

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish') said...

मन को छू गये भाव।

------
TOP HINDI BLOGS !

Akanksha~आकांक्षा said...

कैसा है वो, किस हाल में है वो,
दिल के हर सवाल में रहता है वो !

...BEhatrin Sher..badhai.



_______________
शब्द-शिखर / विश्व जनसंख्या दिवस : बेटियों की टूटती 'आस्था'

smshindi By Sonu said...

बहुत ही खूबसूरत रचना!

smshindi By Sonu said...

मेरी नई पोस्ट पर आपका स्वागत है! मेरा ब्लॉग का लिंक्स दे रहा हूं!

हेल्लो दोस्तों आगामी..

Kailash C Sharma said...

बहुत सुन्दर और कोमल अहसास..

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

खूब ...बहुत सुंदर.....

sheetal said...

kamaal ka likha hain aapne.

veerubhai said...

बहुत अच्छा लिख रहीं हैं आप .बधाई .

Arvind Mishra said...

वाह,
अफसानों का सफ़र जारी है,इश्के इजहार जारी है
मुद्दतों बाद देखा, सपनों का कारोबार जारी है
बहूत खूब -अब बहुत निखार है आपके अंदाजे बयाँ में !